कविता

प्यार में



प्यार की स्याही से
लिखे चर्चे
समय की
‘टच एंड गो’ ने छुआ
और भुला दिया


पन्नों पर
फड़फड़ता दर्द
आलपिन सा चुभा
तो अतीत को
फाइल में
जाने क्यों लगा दिया


बदलते परिवेश से
जुड़ी तुम्हारी यादें
अर्जी सा चेहरा
क्षण भर को देखा
और पेपरवेट की तरह
हटा दिया....



शिव डोयले
विदिशा (म.प्र.), मो. 9685444352