मौन गूंज


सेवा में,


श्री देवेन्द्र कुमार बहल, प्रधान संपादक,


अभिनव इमरोज, नई दिल्ली


माननीय महोदय/महोदया,


आप को यह सूचित करते हुए मुझे अत्यंत हर्ष की अनुभूति हो रही है कि "मौन गूंज" अंतर्राष्ट्रीय वेब पत्रिका के प्रवेशांक का विमोचन- कार्यक्रम रविवार दिनांक 18 अक्टूबर 2020 (अपराह्न 4:00 बजे से 5:30 बजे) को तय किया गया है।


'मौन-गूंज' का मूल भाव - "हिन्द के साथ हिन्दी का विकास" है और मूल उद्देश्य है हिन्दी भाषा के माध्यम से हमारे समाज के मौन, शोषित एवं प्रताड़ित, हाशिए पर अवस्थित जन-समूह के लिए एक सशक्त, जागरुक एवं मुखर कलमकार सृजित करना, समाज की मौन आवाज़ को मुखर करने के लिए एक ऐसे कलमकार वर्ग का संगठन जो समाज के सदियों से शोषित, प्रताड़ित एवं हाशिए पर स्थित प्रत्येक वर्ग एवं हरेक प्राणी के दर्द को, मौन को आवाज़ दे सके, उसे मुखर कर सके।


अत: आप को उक्त विमोचन- कार्यकम के मुख्य अतिथि के रूप में सादर आमंत्रित करते हुए मुझे गर्व महसूस हो रहा है। निवेदन है कि उक्त अवसर पर ऑनलाइन पधारकर इस उत्सव की शोभा बढ़ाएं और पत्रिका को सफल एवं सार्थक बनाने हेतु मार्गदर्शित करें।


समय : अपराह्न 4:00 बजे से 5:30 बजे स्थान : फेसबुक पटल सादर


भवदीय


(डॉ. मीनाक्षी सिंह) 


संस्थापक एवं मुख्य संपादक, 


"मौन गूंज", अंतर्राष्ट्रीय हिंदी वेब पत्रिका


 


धन्यवाद एवं शुभकामनाएँ,
अपने परिवार अभिनव इमरोज़/साहित्य नंदिनी और संपादक बरादरी में इज़ाफ़ा होने पर मैं गौरवान्वित महसूस कर रहा हूँ और हिंदी के एक और मुरीद संपादक मीनाक्षी जी का स्वागत करता हूँ।


देवेन्द्र कुमार बहल


 

 

 


Popular posts from this blog

कर्मभूमि एवं अन्य उपन्यासों के वातायन से प्रेमचंद      

एक बनिया-पंजाबी लड़की की जैन स्कॉलर बनने की यात्रा

अभिनव इमरोज़ सितंबर अंक 2021