परम आदरणीय / आदरणीया,

मार्च महिने से आरम्भ-भयकंप, पाबंदियाँ, आत्मसंदेह और विकल्पहीनता की परिस्थितियों से गुज़रते हुए नुकसान जो हुआ सो हुआ, मानसिकता को कचोटती संवादहीनता ने अत्याधिक संत्रस्त कर दिया लेकिन आपके आशीर्वाद, शुभकामानाओं एवं सहृदयता ने मेरे उन्माद को जीवित रखा और मैंने अपनी सोच के प्रांगन में गालिब को गुनगुनाते सुना:

‘‘ग़र किया नासेह1 ने हम को कै़द अच्छा यूँ ही सही

यह जुनूने-इश्क के अन्दाज़ छुट जाएँगे क्या’’

If the preacher* has sent me behind bars

I harbour no ill-will

But can he quell love's frenzy still.     – Tr. Kuldip Salil

इसी लहरे-अमल में अप्रेल 2020 से नवबंर 2020 तक के सारे अंक abhinavimroz.page वेबसाईट पर उपलब्ध करा दिए गए हैं। यह हमारा स्थाई इन्तज़ाम है।

बहुत से पाठकों/लेखकों ने अभिनव इमरोज़एवं साहित्य-नंदिनीको नए आवरण में देखकर सराहना की है। नए-नए पाठक और रचनाकार भी जुड़े हैं। विदेश से जुड़ने वालों की उपस्थिति से दोनों पत्रिकाओं का अंतर्राष्टीयकरण हो जाना आपके प्रेम और प्रोत्साहन से ही संभव हो पाया है।

लेकिन

कुछ लेखकों/पाठकों ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि जो- गर्मजोशी, घनिष्ठता, सान्निध्य, सुहूलियत एवं समीप्य मुद्रित कॉपी में होता है वह ऑनलाईन में कहाँ ? यह तो साहित्यिक जगत में सर्वविदित है कि प्रिंटमिडिया एक एतिहासिक एवं सर्वकालिक दस्तावेज होता है, उसका एक विस्तृत पाठक वर्ग भी हैं। इस पुस्तक प्रेमी बौद्धिक पाठक वर्ग के लिए गहन सोच विचार के उपरान्त प्रिंट मिडिया क्लब (PMC) के नामकरण से निम्नलिखित व्यवस्था की गई है।

  1. अभिनव इमरोज़एवं साहित्य-नंदिनी आनलाइन स्थायी रूप से प्रकाशित होती रहेंगी। गूगल के सौजन्य से abhinavimroz.page वैबसाइट कार्यात्मक रहेगी।
  2. प्रिंटमिडिया क्लब (PMC) के लिए डिजिटलाइज़ड कॉपी मूल्य का विवरण उस प्रकार होगा:  (जनवरी 2021 से दिसंबर 2021 तक)
    अभिनव इमरोज़ मात्र एक 200/- समाहित रजिस्टर्ड डाकखर्च
    साहित्य नंदिनी मात्र एक 125/- समाहित रजिस्टर्ड डाकखर्च
    अभिनव इमरोज़ वार्षिक 1800/- समाहित रजिस्टर्ड डाकखर्च
    साहित्य-नंदिनी वार्षिक 1200/- समाहित रजिस्टर्ड डाकखर्च
    अभिनव इमरोज़ एवं साहित्य नंदिनी वार्षिक 2500/- समाहित रजिस्टर्ड डाकखर्च
  3. प्राप्ति सुनिश्चित करने के लिए प्रति/प्रतियाँ रजिस्टर्ड बुकपोस्ट से भेजी जाएंगी।
  4. किसी विशेषांक के लिए या जिसमें आप की रचना प्रकाशित है और आप ज्यादा कॉपी मंगवाना चाहते हैं तो कॉपियों की संख्या और अग्रिम राशि प्रेषित करनी होगी।
  5. आनलाइन पढ़ने वालों के लिए सहयोग राशि स्वेच्छा अनुसार
  6. अपना परिचय उपलब्ध करवाना आवश्यक है। सदस्यता फार्म का प्रारूप नीचे दिया गया है।


नामः

पता 

शहर

राज्य

पिन कोड

मो. 

व्हाटसअप न. 

ईमेल 

फेसबुक 

जन्मदिन 

वर्षगांठ 



तस्वीर

डी. के. बहल,
 A/c No. 520101222134565

युनियन बैंक, वसंत कुंज,
नई दिल्ली 110070

IFSC Code - CORP0000538

­आईए अभिनव इमरोज एवं साहित्य नंदिनी परिवार के लिए एक वृहत् मंच का निर्माण करें- कुछ कर गुज़रने का जुनून ता उम्र क़ायम रहे।


"सोचिए तो मुश्किल है, देखिए तो आसाँ है -फ़िराक़ गोरखपुरी"


1. साहित्यिक परिभाषा में प्रेम-त्याग का उपदेश देने वाला


Popular posts from this blog

कर्मभूमि एवं अन्य उपन्यासों के वातायन से प्रेमचंद      

एक बनिया-पंजाबी लड़की की जैन स्कॉलर बनने की यात्रा

अभिनव इमरोज़ सितंबर अंक 2021